Friday, August 11, 2017

GST INDIA : कहीं पर कुछ तो गड़बड़ है : Somewhere something is wrong

IGST Act में -
कहीं पर कुछ तो गड़बड़ है : Somewhere something is wrong
विशेष टिपण्णी: आपकी सुविधा के लिए इस पोस्ट में संदर्भित IGST Act के प्राविधानों के अंश पोस्ट के अंत में दिए गए हैं।
मित्रो !
                IGST Act की धारा 5(1) में all inter-State supplies of goods or services or both पर कर लगाया गया है जिसमें दूसरे राज्य में SEZ में स्थित यूनिट और डेवेलपर्स को की गयी सप्लाई भी शामिल हो जाती है किन्तु धारा 16(1) में ऐसी सप्लाई को Zero rated supply में शामिल किया गया है। ऐसी सप्लाई के सम्बन्ध में प्रयुक्त इनपुट्स पर दिए गए कर के बापस किये जाने का प्रावधान धारा 16(3) में किया गया है किन्तु सम्पूर्ण IGST Act या इसके अंतर्गत जारी किसी विज्ञप्ति में यह नहीं कहा गया है कि ऐसी सप्लाई पर कर नहीं लगाया जायेगा।
      यदि यह मान लिया जाय कि "inter-State supply" की परिभाषा अधिनियम की धारा 7 में दी गयी है (मेरे विचार से ऐसा मान लेना सही नहीं है) तब इसमें -
1. धारा 7 की उपधारा (1) में दूसरे राज्य में स्थित Special Economic Zone की इकाइयों और विकासकर्ताओं को की गयी सप्लाई भी शामिल है।
2. धारा 7 की उपधारा (5) में निम्नलिखित सप्लाइज शामिल हैं -
(a) निर्यात सप्लाई जिसका सप्लायर भारत में स्थित हो और जिसका place of supply भारत के बाहर स्थित हो;
(b) Special Economic Zone की इकाइयों और विकासकर्ताओं को की गयी सप्लाई जबकि सप्लायर और Special Economic Zone एक ही राज्य में स्थित हों;
(c)  Special Economic Zone की इकाइयों और विकासकर्ताओं को की गयी सप्लाई जबकि सप्लायर और Special Economic Zone दो अलग-अलग राज्यों में स्थित हों।
      इस आधार पर उपर्युक्त सभी प्रकार की सप्लाई पर धारा 5 में कर लगा दिया गया है जबकि धारा 16 में  परिभाषित जीरो रेटेड सप्लाइज को देखते हुए उपर्युक्त सप्लाइज को करमुक्त रखा जाना था। ऐसी सप्लाइज के करमुक्त होने सम्बन्धी प्रावधान धारा 16 में भी नहीं किया गया है।  धारा 16 में केवल सप्लाई से सम्बंधित input tax credit की अप्रयुक्त धनराशि की बापसी का प्राविधान किया गया है।
                IGST Act की धारा (5) के अंतर्गत "inter-State supplies of goods or services or both" पर कर लगाए जाने का उल्लेख किया गया है।  किन्तु अधिनियम में   "inter-State supplies of goods or services or both"  या "inter-State supply" को परिभाषित नहीं किया गया है। धारा 7 के प्रारम्भ से पूर्व "inter-State supply" शब्दों का उल्लेख अवश्य किया गया है किन्तु धारा 7 की विभिन्न उपधाराओं में इस बात का उल्लेख किया गया है कि कौन से संव्यवहार "supply of goods or services or both in the course of inter-State trade or commerce"  माने जाएंगे। Expressions ""supply of goods or services or both in the course of inter-State trade or commerce" और "inter-State supply of goods or services or both" एक ही अर्थ नहीं रखते हैं। धारा 7 के प्रारम्भ से पूर्व लिखे शब्द "inter-State supply" अधिनियम का भाग नहीं हैं क्योंकि पार्लियामेंट के समक्ष प्रस्तुत IGST BILL में यह marginal notes के रूप में रहे हैं। दूसरे अधिनियम की कोई भी धारा या उपधारा उसकी संख्या (number) से संदर्भित की जा सकती है। इस आशय का प्रावधान "General Clauses Act" के अंतर्गत किया गया है।
      मेरा विचार है कि सरकार यह मानकर चल रही है कि "IGST Act" की धारा 5 में संदर्भित "inter-State supply" की परिभाषा अधिनियम की धारा 7 में दी गयी है किन्तु यह ऊपर दिए गए कारणों से सत्य नहीं है।
                यदि थोड़ी देर के लिए for the sake of arguments, यह सत्य मान भी लिया जाय कि धारा 7 में वर्णित संव्यवहार ही  धारा 5 में "inter-State supplies of goods or services or both" शब्दों से संदर्भित हैं तब यह प्रकाश में आता है कि IGST Act की धारा 5 में निम्नलिखित संव्यवहारों पर भी कर लगाया गया है।
(5) Supply of goods or services or both,—
(a) when the supplier is located in India and the place of supply is outside India;
(b) to or by a Special Economic Zone developer or a Special Economic Zone unit; or
(c) in the taxable territory, not being an intra-State supply and not covered elsewhere in this section, shall be treated to be a supply of goods or services or both in the course of inter-State trade or commerce.
      यहां पर क्लॉज (a) में संदर्भित सप्लाई (when the supplier is located in India and the place of supply is outside India)  export supply है और क्लॉज (b) में supply to Special Economic Zone unit or Special Ecomonmic Zone developer से सम्बंधित है। यह उल्लेखनीय है कि यह दोनों प्रकार की सप्लाइज धारा 16 की उपधारा (1) में "Zero rated supply" निम्नप्रकार परिभाषित हैं।
16. (1) “Zero rated supply” means any of the following supplies of goods or services or both, namely:—
(a) export of goods or services or both; or
(b) supply of goods or services or both to a Special Economic Zone developer or a Special Economic Zone unit.
   धारा 16 की उपधारा (3) में zero rated supply से सम्बंधित इनपुट्स पर दिए गए कर की धनराशि को बापस किये जाने का प्रावधान निम्न प्रकार किया गया है ;-
(3) A registered person making zero rated supply shall be eligible to claim refund under either of the following options, namely:—
(a) he may supply goods or services or both under bond or Letter of undertaking, subject to such conditions, safeguards and procedure as may be prescribed, without payment of integrated tax and claim refund of unutilised input tax credit; or
(b) he may supply goods or services or both, subject to such conditions, safeguards and procedure as may be prescribed, on payment of integrated tax and claim refund of such tax paid on goods or services or both supplied,
 in accordance with the provisions of section 54 of the Central Goods and Services Tax Act or the rules made thereunder.
      यहां पर जीरो रेटेड सप्लाइज पर कर लगाए जाने अर्थात करमुक्त रखने का कोई उल्लेख नहीं किया गया है।  इस प्रकार section 16 यह मानकर बनाया गया है कि export supply और  supply to Special Economic Zone  unit or Special Economic Zone developer को सप्लाई किये जाने वाले माल और सेवाओं की सप्लाई पर अधिनियम में कर नहीं लगाया गया है। यह तभी संभव हो सकता है जब यह माना जाय कि धारा 5 की उपधारा (1) में expression "inter-State supplies of goods or services or both" में   export supply और supply to Special Economic Zone  unit or Special Economic Zone developer को सम्मिलित माना जाय। यदि ऐसा नहीं माना जाता तब यह आवश्यक होगा कि ऐसी supplies (export supply और supply to Special Economic Zone  unit or Special Economic Zone developer) को पूर्ण रूपेण करमुक्त घोषित किया जाय।
      मेरा मानना है कि यदि मुझसे अधिनियम और उसके अंतर्गत जारी की गयी विज्ञप्तियों के पढ़ने या समझने में कोई भूल नहीं हुयी है तब IGST Act में  export supply और supply to Special Economic Zone  unit or Special Economic Zone developer के सम्बन्ध में ऐसी कोई व्यवस्थाएं नहीं की गयीं हैं।
      एक बात और भी है वह यह कि Special Economic Zone पॉलिसी के अनुसार SEZ की इकाइयों और SEZ के विकासकर्ताओं को authorized operations में प्रयोग हेतु की जाने वाली माल और सेवाओं की आपूर्ति पर कर से छूट दी जानी है किन्तु यहां पर सभी माल और सेवाओं को Zero-rated supply परिभाषित कर दिया गया है।

Referred Provisions of IGST Act
1. Section 5(1)
5. (1) Subject to the provisions of sub-section (2), there shall be levied a tax called the integrated goods and services tax on all inter-State supplies of goods or services or both, except on the supply of alcoholic liquor for human consumption, on the value determined under section 15 of the Central Goods and Services Tax Act and at such rates, not exceeding forty per cent, as may be notified by the Government on the recommendations of the Council and collected in such manner as may be prescribed and shall be paid by the taxable person:
                Provided that the integrated tax on goods imported into India shall be levied and collected in accordance with the provisions of section 3 of the Customs Tariff Act, 1975 (51 of 1975) on the value as determined under the said Act at the point when duties of customs are levied on the said goods under section 12 of the Customs Act, 1962 (52 of 1962).
2. Section 7(1) and Section 7(5)
Inter-State supply.
7. (1) Subject to the provisions of section 10, supply of goods, where the location of the supplier and the place of supply are in—
(a) two different States;
(b) two different Union territories; or
(c) a State and a Union territory,
shall be treated as a supply of goods in the course of inter-State trade or commerce.

(5) Supply of goods or services or both,—
(a) when the supplier is located in India and the place of supply is outside India;
(b) to or by a Special Economic Zone developer or a Special Economic Zone unit; or
(c) in the taxable territory, not being an intra-State supply and not covered elsewhere in this section,
shall be treated to be a supply of goods or services or both in the course of inter-State trade or commerce.

3. Section 16
Zero rated supply.
16. (1) “Zero rated supply” means any of the following supplies of goods or services or both, namely:—
(a) export of goods or services or both; or
(b) supply of goods or services or both to a Special Economic Zone developer or a Special Economic Zone unit.
(2) Subject to the provisions of sub-section (5) of section 17 of the Central Goods and Services Tax Act, credit of input tax may be availed for making zero-rated supplies, notwithstanding that such supply may be an exempt supply.
(3) A registered person making zero rated supply shall be eligible to claim refund under either of the following options, namely:—
(a) he may supply goods or services or both under bond or Letter of Undertaking, subject to such conditions, safeguards and procedure as may be prescribed, without payment of integrated tax and claim refund of unutilised input tax credit; or

(b) he may supply goods or services or both, subject to such conditions, safeguards and procedure as may be prescribed, on payment of integrated tax and claim refund of such tax paid on goods or services or both supplied, in accordance with the provisions of section 54 of the Central Goods and Services Tax Act or the rules made thereunder.

Post a Comment