Monday, March 13, 2017

विस्वास और धैर्य की परीक्षा

मित्रो !
    जहाँ ईश्वर ने समस्याएं बनायीं है वहीं उसने समस्याओं के समाधान भी रचे हैं। जहां एक रास्ता बंद हो जाता है, ईश्वर हमारे धैर्य की परीक्षा लेता है और हमारे लिए दूसरा रास्ता खोल देता है। जो व्यक्ति ईश्वर में विश्वास खोये बिना धैर्य के साथ अपना कर्म करता है उसे अपनी मंजिल अवश्य मिलती है।
     अंधी गली (Blind lane) के आख़िरी छोर पर रहने वाला व्यक्ति भी मुख्य मार्ग पाता है, मोटर वाहनों में रिवर्स गिअर होता है।

Post a Comment